शेयर मार्केट क्या है – What is Share Market in Hindi

What is Share Market in Hindi – 2022 पैसा कमाने के लिए शेयर बाजार बहुत बड़ा बाजार है, जिसमें पैसा भी अंधाधुंध होता है। इस बाजार में पैसे कमाने के लिए कई लोग आते हैं। लेकिन अंत में कुछ ही लोग रह जाते हैं, जिन्हें इसकी पूरी जानकारी होती है।

बाकी सभी लोग इस बाजार को सिर्फ नुकसान खाकर अच्छा और बुरा कहते हैं। यह बाजार कई लोगों को फर्श से फर्श तक ले गया, जबकि कुछ लोगों ने उन्हें विपरीत दिशा से फर्श पर फेंक दिया।

आज के इस लेख में हम Share Market के बारे मे जानेगे।  

शेयर मार्केट क्या है | What is Share Market in Hindi

कोई भी कंपनी चाहे वह नई हो या पुरानी अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए धन की आवश्यकता होती है, और जब वह कंपनी बहुत प्रतिष्ठित और लाभदायक होती है, तो वह आईपीओ यानी इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग के माध्यम से जनता से पैसा जुटाती है।

जो कोई भी इसमें पैसा लगाता है, जब वह कंपनी शेयर बाजार में सूचीबद्ध होती है, तो सभी को लाभ या हानि होती है। शेयर बाजार में कंपनी की लिस्टिंग शेयरों के जरिए की जाती है। यानी उन शेयरों को खरीदकर कोई भी उस कंपनी का शेयरधारक बन सकता है और उसे शेयरधारक कहा जाता है।

जैसे-जैसे उस कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ती है, वैसे ही इस कंपनी के शेयरधारक भी बढ़ते हैं और जब भी शेयर की कीमत गिरती है तो नुकसान भी होता है। इसलिए अगर आप शेयर बाजार में पैसा बिना सीखे, सिर्फ जुआ समझकर निवेश करते रहेंगे तो निश्चित तौर पर यह आपका नुकसान होगा।

शेयर मार्केट कैसे सीखें?

शेयर बाजार के बारे में कुछ बातें नीचे बताई जा रही हैं-

निवेश करने से पहले शेयर बाजार की मूल बातें जानें।

एक बहुत प्रसिद्ध कहावत है कि ‘कुछ कमाने से पहले आपको कुछ सीखना होगा’, बिना सही जानकारी के आप कभी भी सही कदम नहीं उठा सकते। तो सबसे पहले आपको विभिन्न स्रोतों से बहुत सारी जानकारी प्राप्त करनी होगी, जैसे कि –

किताबें, उदाहरण के लिए, पीटर लिंच द्वारा लर्न टू अर्न, पराग पारिख द्वारा स्टॉक टू रिचेस, कई अन्य में से हैं।

  • समाचार चैनल
  • अखबार

इस बाजार में लंबे समय तक निवेश करें और लोगों से बातचीत और चर्चा करें।

इन जैसे हर माध्यम से आपको कम से कम एक महीने में शेयर बाजार की पूरी जानकारी हासिल करनी होगी।

अपनी बचत को धीरे-धीरे निवेश करें

शेयर बाजार के बारे में सारी जानकारी इकट्ठा करने के बाद अब जब आपको निवेश करना है तो आपको अपनी बचत से वह निवेश करना है यानी आपको अपनी मौजूदा कमाई से यह निवेश नहीं करना है. शुरुआत में निवेश तभी करना चाहिए जब उसके पास कुछ अतिरिक्त पैसा पड़ा हो।

क्योंकि वह बैंक में पड़े भी हैं तो कुछ कम नहीं आ रहा है। अगर आप अपना पैसा बढ़ाना चाहते हैं, तो आपके लिए बेहतर है कि इसे बैंक में पड़े रहने देने के बजाय कहीं और निवेश करें। लेकिन हां, इसमें रिस्क की संभावना बहुत ज्यादा होती है।

इसलिए शुरुआती दौर में आपको अपनी मौजूदा कमाई को लगाने के बजाय अपनी बचत का कुछ पैसा निवेश करना चाहिए, ताकि कुछ नुकसान भी हो तो आप इसे सबक के तौर पर ले सकें। क्योंकि हर कोई अपनी गलतियों से सीखता है।

शेयर बाजार का एक नियम आपके दिमाग में अच्छी तरह से बैठ जाना चाहिए कि आज मुनाफा होगा तो कल नुकसान होगा। लेकिन जो व्यक्ति अपनी गलतियों से सीखता है, अनुभव प्राप्त करके सही कदम उठाता है, अपने लाभ की दर को बढ़ाता है और उसकी हानि की दर लगातार घटती जाती है।

शेयर बाजार में पैसा कैसे निवेश करें?

शेयर बाजार में पैसा लगाने से पहले आपके लिए कुछ चीजों का होना बहुत जरूरी है। उन सभी बातों के बारे में नीचे विस्तार से बताया जा रहा है-

एक डीमैट खाता

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए डीमैट अकाउंट होना सबसे जरूरी है। आज के दौर में हर किसी के पास स्मार्टफोन है। वर्तमान में बाजार में कई डीमैट खाता खोलने वाली कंपनियां काम कर रही हैं, जो कि ग्रो, ज़ेरोधा, अपस्टॉक्स, 5 पैसा आदि हैं।

आप इनमें से किसी के साथ जुड़कर अपने शेयर बाजार की यात्रा शुरू कर सकते हैं। डीमैट अकाउंट के लिए भी आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक अकाउंट होना बहुत जरूरी है। आधार कार्ड से आपकी पहचान की पुष्टि की जाती है।

सभी लेन-देन की जानकारी पैन कार्ड के माध्यम से एकत्र की जाती है। अपने डीमैट खाते में पैसे जोड़ने के लिए बैंक खाते का उपयोग करना आवश्यक है। निवेश करने के लिए आपको अपने लिंक किए गए बैंक खाते से अपने डीमैट खाते में पैसे जोड़कर शेयर खरीदने होंगे।

शेयर बाजार में शेयर खरीदने की प्रक्रिया क्या है?

शेयर बाजार में शेयर खरीदने और बेचने की प्रक्रिया को नीचे विस्तार से बताया जा रहा है-

आपको अपने लिंक किए गए बैंक खाते से अपने डीमैट खाते में पैसे जोड़ने होंगे। पैसे जोड़ने के बाद, आप जिस स्टॉक को खरीदना चाहते हैं, उसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है।

यदि आप जिस मूल्य पर उस शेयर को खरीदना चाहते हैं, वह आ गया है, तो आपको अपने जोड़े गए पैसे के अनुसार शेयरों की संख्या दर्ज करनी होगी और खरीदें पर क्लिक करना होगा। शेयर खरीदने के दो दिन बाद वे शेयर आपके डीमैट खाते में जुड़ जाएंगे। आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि दो दिन क्यों? दरअसल, अगर आप कोई शेयर खरीदते हैं तो वह दो दिनों के अंदर आपके डीमैट खाते में पहुंचा दिया जाएगा।

इंट्राडे ट्रेडिंग में शेयरों की डिलीवरी उसी दिन की जाती है। इंट्राडे ट्रेडिंग वह है, जिसमें निवेशक सुबह शेयर खरीदते हैं और शाम को उन्हें वापस बेच देते हैं। चूंकि अब आपके डीमैट खाते में शेयर आ गए हैं, आप जब चाहें उन शेयरों को बेच सकते हैं।

शेयरों को बेचने के लिए आपको अपने खुद के डीमैट खाते में जाना होगा, और अपने खाते में उपलब्ध शेयरों पर क्लिक करना होगा और सेल पर क्लिक करना होगा।

सेल पर क्लिक करने के बाद आपके डीमैट खाते से उतने शेयर निकल जाएंगे जितने आपने बेचे हैं।
शेयर बेचने के बाद आपके डीमैट खाते के कुल बिक्री मूल्य का 80 प्रतिशत तुरंत आ जाएगा और शेष 20 प्रतिशत 24 घंटे के बाद आएगा।

डीमैट अकाउंट में पैसा आने के बाद आप इस पैसे को अपने लिंक्ड अकाउंट में वापस भेज सकते हैं, नहीं तो आप किसी और कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं।

निवेश और ट्रेडिंग में क्या अंतर है?

निवेश का अर्थ है निवेश

शुरुआत में हर कोई निवेश से शुरुआत करता है। निवेश में आप कोई एक शेयर लेकर कुछ समय (होल्डिंग प्रोसेस) के लिए अपने पास रख लेते हैं और जब 4-6 महीने बाद इसकी कीमत बढ़ जाती है तो उसे बेच देते हैं।

ट्रेडिंग का मतलब ट्रेडिंग

दूसरी ओर, ट्रेडिंग वह है, जिसमें आपने एक शेयर खरीदा और अगले दिन या उसी दिन (इंट्रा-डे) को बेच दिया। यह केवल वही लोग कर सकते हैं जिनके पास शेयर बाजार में काफी अनुभव है, और जिनके पास दिन भर सूचनाओं को संसाधित करने का समय है।

शेयर मार्केट में प्रॉफिट कैसे कमाए ?

शेयर बाजार में मुनाफा कमाने के लिए सबसे जरूरी है कि आप सही समय पर सही स्टॉक में पैसा लगाएं। यह जानने के लिए कि किस कंपनी के स्टॉक में निवेश करना है, आपको किसी भी कंपनी की कई वर्षों की सभी जानकारी एकत्र करनी होगी, और कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों का विश्लेषण करना होगा।

किन तथ्यों का विश्लेषण करना है, उन सभी के बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं-

  • कंपनी का राजस्व क्या है?
  • कंपनी की बिक्री कैसी है?
  • कंपनी की अब तक की जानकारी के आधार पर यह कैलकुलेट किया जाता है कि वह भविष्य में कैसा प्रदर्शन कर रही है।
  • लाभांश का अर्थ है कि कंपनी अपने शेयरधारकों को कितना लाभ दे रही है।

शेयर बाजार से जुड़े कुछ जरूरी टिप्स

निवेश करने के लिए आपके पास उपलब्ध अतिरिक्त धन का ही उपयोग करें

आपको हमेशा उतना ही पैसा शेयर बाजार में लगाना चाहिए, जिस पर नुकसान होने पर भी आपको कोई परेशानी न हो। आपको उस पैसे का निवेश करना चाहिए, जो आपके पास सुरक्षित/बड़ी राशि में रखा जाता है, आपकी जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार, आप कितनी राशि का जोखिम उठा सकते हैं। लालच में आपको ज्यादा पैसा नहीं लगाना है।

धीरे-धीरे और संयम से निवेश करें

हमेशा अपने कदम धीरे-धीरे उठाएं, कभी भी एक बार में ज्यादा पैसा न लगाएं, ताकि अगर नुकसान हो जाए तो वह एक छोटी सी राशि ही हो और आप उन गलतियों से सीखें और धीरे-धीरे अपनी निवेश क्षमता को बढ़ाएं।

खुद को हमेशा सीखते रहो

शेयर बाजार की जानकारी सभी स्रोतों से लेते रहें, विशेषज्ञों की सलाह लें, लोगों से बात करें और साथ ही खुद को शिक्षित भी करते रहें। इसका फायदा यह होगा कि आप शेयर बाजार के प्रति अपनी क्षमता को बढ़ाते रहेंगे। आशा है कि अब आप जान गए होंगे कि शेयर बाजार कैसे सीखें?  

यह भी पढ़ें: Meesho App Se Paise Kaise Kamaye

Leave a Comment