एटीएम क्या है | ATM Kya hai in Hindi

दोस्तों आज इस लेख के माध्यम से एटीएम के बारे मे जानेंगे जैसे  –  ATM क्या है? एटीएम कितने प्रकार के होते हैं? एटीएम से पैसे कैसे निकाले? और साथ ही एटीएम के क्या फायदे हैं? एटीएम के क्या नुकसान हैं? इस लेख के माध्यम से आपको ATM से संबन्धित सारी जानकारी जानेंगे।

ATM Kya hai in Hindi

ATM Kya hai in Hindi – ATM Ka Full Form

ATM Ka Full Form ऑटोमेटेड टेलर मशीन है। जिसे Debit Card भी कहा जाता है। यह एक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल स्वचालित टेलर मशीन है। जिसका उपयोग ज्यादातर बैंक से पैसे निकालने, बैंक में पैसा जमा करने के लिए किया जाता है।

इसके साथ ही एटीएम की मदद से आप पिन कोड बदलने, एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रांसफर करने आदि जैसे काम आसानी से कर सकते हैं। आज देश भर के गांवों और शहरों में एटीएम की सुविधा उपलब्ध है, एटीएम कार्ड न केवल सक्षम बनाता है। आप शारीरिक रूप से लेन-देन करते हैं लेकिन एटीएम आपको किसी के खाते में ऑनलाइन पैसे भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है।

एटीएम कैसे काम करता है?

एटीएम इंटर-बैंकिंग लिंकिंग के सिद्धांत पर काम करता है, जिसके अनुसार आप किसी भी एटीएम से आसानी से पैसे जमा और जमा कर सकते हैं, वह भी बहुत आसानी से। अब आइए जानते हैं

एटीएम से पैसे कैसे निकाले?

  • सबसे पहले आप नजदीकी ATM Machine में जाएं और एटीएम मशीन में दिए गए कार्ड स्लॉट में अपना डेबिट कार्ड स्वाइप करें।
  • जैसे ही आप एटीएम मशीन के अंदर डेबिट कार्ड डालते हैं, आपसे भाषा चुनने के लिए कहा जाता है।
  • आप कोई भी भाषा हिंदी या अंग्रेजी चुन सकते हैं, उसे चुनने के बाद OK बटन दबाएं।
  • उसके बाद आपसे 4 अंकों का पिन मांगा जाता है।

नोट:- गौरतलब है कि कोटक महिंद्रा बैंक और एक्सिस बैंक का एटीएम पिन कोड 6 अंकों का होता है।

  • जब आप चार अंकों का पिन डालते हैं। फिर आपके सामने कुछ विकल्प खुले होते हैं जैसे कि Withdraw (विड्रॉअल); विकल्प और बैलेंस पूछताछ के साथ-साथ एटीएम पिन नंबर में परिवर्तन।
  • जैसे ही आप निकासी का विकल्प चुनते हैं तो आपके सामने राशि का विकल्प आ जाता है।
  • आप जो भी राशि निकालना चाहते हैं, आप नीचे दिए गए नंबरों की मदद से उस राशि को भरते हैं और फिर भरने के बाद आप अगला बटन दबाते हैं।
  • अब आपको सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट, रिकरिंग अकाउंट का विकल्प मिलता है, तो आप इनमें से किसी भी विकल्प को चुनकर पैसे निकाल सकते हैं। अगर आपका अकाउंट सेविंग अकाउंट में है तो आप सेविंग अकाउंट के बटन पर क्लिक करें।
  • जैसे ही आप सेविंग अकाउंट के बटन पर क्लिक करते हैं। फिर आपसे पूछा जाता है कि क्या आपको रसीद चाहिए तो आपको Yes का बटन दबाना है।
  • यश का बटन दबाते ही आपने जो राशि एटीएम मशीन में भर दी थी। यह राशि एटीएम मशीन से निकाली जाएगी। आप इसे वापस ले सकते हैं, और उसके बाद आपको रद्द करें बटन दबाना होगा।
  • जिससे आपका ट्रांजैक्शन कैंसिल हो जाएगा, उसके बाद आप पैसे नहीं निकाल पाएंगे।

गौर करने वाली बात है कि मैंने ऊपर के वाक्य में जिस प्रोसेस का जिक्र किया है, वह प्रोसेस हर एटीएम में काम नहीं करता है। लेकिन आम तौर पर प्रक्रिया वही रहती है, बस कभी-कभी कुछ एटीएम में आपसे पिन नंबर मांगा जाता है, फिर आपको भाषा चुननी होती है।

और कभी-कभी आपसे किसी भी एटीएम में रसीद का विकल्प नहीं पूछा जाता है, लेकिन ऊपर बताई गई प्रक्रिया एक वास्तविक प्रक्रिया है, जिसका आप बिना किसी डर के पालन कर सकते हैं।

यह भी जाने शेयर मार्केट क्या है

ATM कितने प्रकार के होते हैं?

ATM Machine मुख्यतः सात प्रकार के होते हैं।

व्हाइट लेबल एटीएम क्या है?

जब ATM Machine का संचालन गैर-बैंकिंग संस्थानों द्वारा किया जाता है। इसे व्हाइट लेबल एटीएम कहा जाता है। गैर-बैंकिंग संस्थाओं के उदाहरण हैं इंडस्ट्रियल फाइनेंस कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड, इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड, इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ इंडिया।

ब्राउन लेबल एटीएम क्या है?

ब्राउन लेबल एटीएम एक ऐसा एटीएम होता है जब बैंकों ने एटीएम के संचालन की जिम्मेदारी किसी तीसरे पक्ष को दी होती है, एटीएम पर उसी बैंक का लोगो लगा होता है जिसे यह जिम्मेदारी दी गई है।

ग्रीन लेबल एटीएम क्या है?

इस एटीएम का उपयोग कृषि उत्पादों की खरीद और बिक्री के लिए किया जाता है।

ऑरेंज लेबल एटीएम क्या है?

इस एटीएम का उपयोग शेयरों के व्यापार के लिए किया जाता है, जैसे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के शेयर।

येलो लेबल एटीएम क्या है?

इस एटीएम का उपयोग ई-कॉमर्स जैसे फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, स्नैपडील के साथ-साथ अमेज़ॅन के साथ-साथ संबद्ध विपणन के लिए भी किया जाता है।

पिंक लेवल एटीएम क्या है?

इस एटीएम का इस्तेमाल सिर्फ महिलाओं के लिए किया जाता है, क्योंकि इस एटीएम का मकसद महिलाओं को लंबी कतारों से बचाना है. यानी महिलाओं को पुरुषों के साथ लाइन में लगने की जरूरत नहीं है, उन्हें सीधे पिंक लेबल एटीएम में जाकर पैसे निकालने होंगे.

जो सिर्फ महिलाओं के लिए है, इस एटीएम की निगरानी या निगरानी एक गार्ड करता है। वहीं, इसमें सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है.

बायोमेट्रिक एटीएम क्या है?

बायोमेट्रिक एटीएम के जरिए ग्राहक फिंगरप्रिंट स्कैनर के साथ-साथ आई स्कैनर जैसी सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं। इस एटीएम का मकसद यह है कि बैंक ग्राहकों के साथ कोई धोखाधड़ी नहीं कर सकता है।

एटीएम मशीन में इस्तेमाल होने वाले कुछ उपकरण

वैसे तो एटीएम मशीन में कई सारे इंस्ट्रूमेंट्स का इस्तेमाल होता है, लेकिन अब हम आपको कुछ ऐसे इंस्ट्रूमेंट्स के बारे में बताएंगे, जिनका इस्तेमाल आप पैसे निकालने के लिए जाते समय करते हैं।

कार्ड रीडर क्या है?

जब हम सभी अपना कार्ड स्वाइप करते हैं या एटीएम में कार्ड डालते हैं, तो कार्ड रीडर के माध्यम से आपके डेबिट कार्ड के पीछे एक चुंबकीय पट्टी होती है। जिसमें डेटा होता है, जब आप कार्ड को स्वैप करते हैं या एटीएम मशीन के अंदर कार्ड डालते हैं, तो कार्ड रीडर चुंबकीय पट्टी के अंदर से डेटा पढ़ता है और फिर खाते की जानकारी कैश डिस्पेंसर को भेजता है।

कीपैड क्या है?

जब हम सभी एटीएम से पैसे निकालने जाते हैं। पैसे निकालने के लिए हमें दो विकल्प मिलते हैं, एक आप स्क्रीन टच के जरिए पैसे निकाल सकते हैं या आप कीपैड के जरिए पैसे निकाल सकते हैं। आप कीपैड की मदद से अपना पिन नंबर दर्ज कर सकते हैं और एंटर दबा सकते हैं। और आप लेनदेन को रद्द कर सकते हैं। यह सारा काम कीपैड से होता है।

Speaker क्या है?

अधिकांश एटीएम मशीनों में स्पीकर भी लगे होते हैं जब आप अपना कार्ड स्वैप करते हैं या एटीएम मशीन में कार्ड डालते हैं, तो एटीएम मशीन के अंदर से एक आवाज आती है, जिसमें यह कहता है कि कृपया पिन कोड दर्ज करें और साथ ही बाद में बताएं कि कौन सा जिस भाषा का आप उपयोग करना चाहते हैं।

डिस्प्ले स्क्रीन क्या है?

एटीएम मशीन में डिस्प्ले स्क्रीन, इसका कार्य धारक का नाम बताना है, साथ ही आपके बैंक खाते में शेष राशि, यह जानकारी आपको डिस्प्ले से भी मिलती है।

कैश डिस्पेंसर क्या है?

कैश डिस्पेंसर एटीएम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह आपके पैसे का वितरण करता है। एटीएम में स्थापित आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कैश डिस्पेंसर उतनी ही राशि निकालता है, जितनी आप डालते हैं।

रसीद प्रिंटर क्या है?

जब आप एटीएम से पैसे निकालते हैं, तो एक रसीद जनरेट होती है। आपने उस रसीद में कितना पैसा निकाला है? और कितना पैसा बचा है, साथ ही जितना समय आपने पैसा निकाला। इसकी तिथि का उल्लेख है। और आपके खाते का IFSC कोड भी अंकित होता है और इसके साथ ही उस रसीद प्रिंटर में आपके खाते के अंतिम 4 अंक भी अंकित होते हैं।

एटीएम मशीन के लाभ

(1) एटीएम मशीन की मदद से आप पैसे निकाल सकते हैं और पैसे जमा भी कर सकते हैं।

(2) एटीएम मशीन की मदद से आप एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे भी ट्रांसफर कर सकते हैं।

(3) एटीएम मशीन की मदद से आप यह भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि आपके बैंक खाते में कितना पैसा बचा है।

(4) एटीएम मशीन का उपयोग करके, आप अपने बिजली के बिल का भुगतान कर सकते हैं और पानी के बिल का भुगतान कर सकते हैं और साथ ही अपने मोबाइल को रिचार्ज कर सकते हैं।

(5) एटीएम का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह आपको 24 घंटे और महीने के सातों दिन सुविधा देता है।

(6) एटीएम की मदद से आप बैंकों में लंबी लाइनों से बच सकते हैं।

(7) एटीएम मशीन की मदद से आप अपने एटीएम का पिन कोड भी बदल सकते हैं।

एटीएम के बारे में रोचक तथ्य

(1) एटीएम मशीन का आविष्कार जॉन शेफर्ड बैरन ने किया था।

(2) सबसे पहले एटीएम का उपयोग करने वाले ग्राहक का नाम एक्टर रेग वराने है।

(3) भारत में पहली एटीएम मशीन 1987 में स्थापित की गई थी, इसे स्थापित करने वाले बैंक का नाम एचएसबीसी बैंक था।

(4) दुनिया का सबसे ऊंचा एटीएम नाथुला पास में स्थित है, इस एटीएम का नाम यूनियन बैंक ऑफ इंडिया है।

(5) दुनिया में सबसे पहले 27 जून 1967 को बार्कले बैंक में दुनिया की पहली एटीएम मशीन लगाई गई थी।

(6) दुनिया में भारत का पहला फ्लोटिंग एटीएम भारतीय स्टेट बैंक द्वारा स्थापित किया गया था जो केरल में स्थित है।

एटीएम मशीन का उपयोग करने से पहले कुछ सावधानियां:

(1) अगर आप रात में एटीएम से पैसे निकालने जा रहे हैं। फिर आप भी किसी को अपने साथ ले जाएं, नहीं तो आपके साथ कुछ ऐसा हो सकता है जैसे कोई आपसे निकाले गए पैसे को छीन सकता है। ऐसे में आप कुछ नहीं कर सकते इसलिए रात को एटीएम से पैसे निकालते समय आपको किसी को अपने साथ जरूर ले जाना चाहिए।

(2) जब आप एटीएम से पैसे निकालने जा रहे हों, तो आपको एक बात का ध्यान रखना होगा कि आपको एटीएम कार्ड अपने हाथ में नहीं रखना है। नहीं तो कोई आपका पीछा कर सकता है और आपसे पैसे छीन सकता है। आपको एटीएम कार्ड को अपनी जेब में रखना है और एटीएम कार्ड को एटीएम मशीन के अंदर ही निकालना है।

(3) जब आप एटीएम मशीन में अपने डेबिट कार्ड का पिन नंबर बदल रहे हों, तो कोशिश करें कि उस समय कोई व्यक्ति न हो अन्यथा वह व्यक्ति आपका पिन नंबर जान लेगा और आपके साथ धोखाधड़ी भी कर सकता है।

(4) पैसे निकालने के बाद आपको उस रसीद को ध्यान से रखना होगा और आपको एक खास बात याद रखनी होगी कि आपको रसीद को रास्ते में नहीं फेंकना है। न ही आपको इसे एटीएम के अंदर फेंकना है, अगर आप इसे फेंकना चाहते हैं, तो आप घर आकर अपने आप कूड़ेदान में डाल सकते हैं।

(5) जब आप एटीएम से पैसे निकालने जा रहे हों, तो आपको एक बात का ध्यान रखना होगा कि पैसे निकालने के बाद आपको एटीएम के अंदर ही गिनती करनी होगी। बाहर आकर मत गिनना, गिनने पर कोई गिनते समय आपसे पैसे छीन सकता है।

आशा है आपको ATM क्या है से सम्बंधित लेख पसंद आया होगा. अगर आपको लेख पसंद आया है, तो आपसे विनम्र अनुरोध है कि इस लेख को अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को व्हाट्सएप ग्रुप या फेसबुक पेज या इंस्टाग्राम पेज पर जरूर शेयर करें।

यह भी जाने Mutual Fund क्या है

Leave a Comment